Annapurna Chalisa : माँ अन्नपूर्णा चालीसा, विश्वेश्वर पदपदम की रज निज शीश लगाय