We Design You

A beautiful jewelry

OUR LATEST BLOG

माता का सातवां स्वरूप कालरात्रि

माता का सातवां स्वरूप कालरात्रि के नाम से देवी जाना जाती हैं ! शास्त्रों में सातवें दिन माँ कालरात्रि की उपासना का विधान है ! देवी का वाहन गर्दभ (गदहा) है ! दाहिने हाथ की वरमुद्रा से देवी माँ सभी को आश्रीवाद प्रदान करती हैं ! बाईं हाथ में लोहे का काँटा तथा नीचे वाले …

माता का सातवां स्वरूप कालरात्रि Read More »

देवी का छठा स्वरूप माँ कात्यायनी

आज नवरात्रि का छठा दिन हैं ! देवी का छठा स्वरूप माँ कात्यायनी पार्वती के नौ रूपों में से छठवें रूप में जानी जाती हैं ! संस्कृत शब्दकोश में देवी को उमा, कात्यायनी, गौरी, काली, हेमावती व अन्य नामो से भे जाना जाता हैं ! नवरात्रो  की षष्ठी तिथी को माता की पूजा की जाती …

देवी का छठा स्वरूप माँ कात्यायनी Read More »

पाँचवाँ नवरात्रों में पुजा मां स्कंदमाता की

आज नवरात्रि का पाँचवाँ दिन देवी स्कंदमाता की उपासना का श्रेष्ठ दिन है ! पाँचवाँ नवरात्रों में पुजा मां स्कंदमाता की करने से देवी चेतना का निर्माण करती हैं ! मोक्ष के द्वार खोलने वाली देवी परम सुखदायी हैं ! माता अपने भक्तों की समस्त इच्छाओं की पूर्ति करती हैं ! देवी माँ का वर्ण पूर्णतः …

पाँचवाँ नवरात्रों में पुजा मां स्कंदमाता की Read More »

क्या धार्मिक महत्व है स्वास्तिक का

स्वास्तिक के चिन्ह को मंगल प्रतीक माना जाता है ! क्या धार्मिक महत्व है स्वास्तिक का सनातन में ! यही आपको आज यहां बताने वाले हैं ! स्वास्तिक शब्द में ‘सु’ और ‘अस्ति’ का मिश्रण है ! यहां ‘सु’ अर्थ का  है शुभ और ‘अस्ति’ का अर्थ है होना ! अर्थात स्वास्तिक का मौलिक अर्थ होता …

क्या धार्मिक महत्व है स्वास्तिक का Read More »

नवरात्रा के चोथे दिन मां कूष्माण्डा की पुजा

  नवरात्रा के चोथे दिन मां कूष्माण्डा की पुजा होती जाती है ! संस्कृत भाषा में “कूष्माण्ड” कूम्हडे को कहा जाता है ! माता को कूम्हडे की बलि अप्रिय है, इस कारण से भी इन्हें कूष्माण्डा के नाम से जाना जाता है ! जब सृष्टि रचना नहीं हुई थी, और चारों ओर अंधकार ही अंधकार …

नवरात्रा के चोथे दिन मां कूष्माण्डा की पुजा Read More »

नवरात्रों में बचे माता के प्रकोप से

अगर आप नवरात्रों में उपवास कर रहे हैं, तो नवरात्रों में बचे माता के प्रकोप से ! उपवास में आपको इन संयम और नियमों का पालन करना जरूरी है ! अगर आपने इनमें से कोई भी एक गलती करी ! तो उसके लिए आपको पछताना पड़ेगा जीवन भर ! आपको नवरात्रों में मानसिक और शारीरिक …

नवरात्रों में बचे माता के प्रकोप से Read More »

Explore The World